पुलिस स्टेशन फिरोजपुर झिरका व हरियाणा मुंडाका बोर्डर के सामने लगा पत्थरों का अंबार।

पुलिस स्टेशन फिरोजपुर झिरका के सामने पत्थरों का अंबार पहाड़ी की तरह लगा हुआ है। जबकि यह पुलिस स्टेशन दिल्ली- अलवर रोड़ पर शहर से बाहर बना हुआ है। पुलिस स्टेशन के सामने पुलिस के जवान व होमगार्ड रोड़ पर खडे होकर पुरे रात दिन अवैध खनन कर लौट रहे सैंकडों ओवरलोड डम्फरो से ओवरलोड पत्थरों को खाली करवाया जाता है। जिससे स्टेशन के सामने पत्थरों का अंबार अत्यधिक मात्रा में लग जाता है। जिससे आने-जाने वाले वाहनों को और इस रास्ते से गुजरनें वाले राहगीरों को बडी़ कठिनाइयों का सामना करना पड़ा रहा है। आम लोगों का इस मामले में कहना है कि जो पत्थरों का स्टोक स्टेशन के सामने इकट्ठा होता है। यह पत्थर यहां से कहां सप्लाई किया जाता है। और जो इन पत्थरों से आमदनी होती है वो कहां और सरकार के किस फंड में जमा होती है।

आपको बता दें कि पत्थरों का स्टॉक फिरोजपुर झिरका पुलिस स्टेशन के सामने और हरियाणा मुंडाका बोर्डर पर आज से नही सालों से लगातार चला आ रहा है। लेकिन आजतक किसी को यह पता नहीं की इन पत्थरों का पैसा किस की जैब में जाता है। इस मामले की जानकारी के लिए जल्द ही ऑल इंडिया शोसल क्राइम एंड एंटी करप्शन आर्गेनाइजेशन सूचना के अधिकार 2005 के तहत आवेदन कर जानकारी मांग रही है। जिससे जल्द ही पता चल जाएगा कि इन पत्थरों को कहां सप्लाई किया जाता है और इन पैसों को कहां पर पहुंचाया जाता है। और आज तक कितने पत्थरों का स्टॉक किया गया है और कुल कितनी आमदनी सरकार को हुई है।